Ziddi boys Hindi Quotes SMS Shayari Message

Ziddi boys Hindi Quotes SMS Shayari Message
Ziddi boys Hindi Quotes SMS Shayari Message

Ziddi boys Hindi Quotes SMS Shayari Message : Ziddi boys Hindi attitude quotes Sms messages and status like and share, Ziddi boys Whatsapp status in Hindi, Ziddi boys Facebook taglines in Hindi, Ziddi boys funny quotes, Ziddi boys status about girls & girlfriend, Ziddi boys Shayari, Best Shayari for Ziddi boys in Hindi, Funny Hindi boys Shayari messages and quotes,

Ziddi boys Hindi Quotes SMS Shayari Message

Ziddi boys Hindi Quotes SMS Shayari Message
Ziddi boys Hindi Quotes SMS Shayari Message
“सुना है तुम ज़िद्दी बहुत हो .. सुनो मुझे भी अपनी ज़िद्द बना लो .”
“तू ज़िद्द है इन आँखों की वरना इन आँखों में और भी हसीं चेहरे हैं”
“ज़माना बहुत तेज़ चलता है साहेब,
एक दिन कुछ ना लिखूँ तो लोग भूलने लगते हैं..”
“तू तरस जायेगी प्यार की एक बूंद के लिए में तो मोहब्बत का बादल हूँ किसी पे बरस जाऊंगा”
“किसी की क्या मजाल जो ख़रीदे हमको वो तो हम बिक गए खरीदार देखक के”
“बाँदा खुद की नज़र में सही होना चाहिए दुनिया तो भगवान् से भी दुखी है”
“उम्र से तो में छोटा हूँ लेकिन बड़े बड़े आशिक़ मुझे सलाम ठोकते है”
“मेरे बारे में इतना मत सोचो में दिल में आता हूँ समझ में नहीं”
“पैदा तो में शरीफ हुआ था , पर शराफत से अपनी बानी नहीं”
“मुझमे खामियां भुत है पर एक खासियत भी है में किसी से रिश्ता मतलब के लिए नहीं रखता”
“तुझसे नहीं तेरे वक़्त से नाराज़ हूँ में जो कभी मेरे लिए मिला ही नहीं”
“पीने पिलाने की क्या बात करते हो, कभी हम भी पिया करते थे, जितनी तुम जाम में लिए बैठे हो, उतनी हम पैमाने में छोड़ दिया करते थे.”
“हम वो तीर है जो हिमालय को चीयर कर अपना रास्ता बदल सकते है, कोई साथ हमारा दे या न, हम अकेले ही दुनिया हिलै सकते है.”
“काम करो एशिया की पहचान बन जाये, चलो ऐसे कि निशान बन जाये, ज़िन्दगी तो हर कोई काट लेता है दोस्तों, जियो इस कदर की मिसाल बन जाये.”
“माना कि नसीब में मेरे कोई सनम नहीं, फिर भी कोई शिकवा कोई गम नहीं, तनहा थे और तनहा जिए जा रहे है, बदनसीब तो वो है जिनके नसीब में हम नहीं.”
“सनम तेरी नफरत में वो दम नहीं, जो मेरी चाहत को मिटा दे, ये मोहब्बत है कोई खेल नहीं, जो आज हँस के खेल और कल रो के भुला दे.”
“उसे भूल कर जिए तो क्या जिया, दम है तो उसे पाकर दिखा, लिख पत्थरो पर अपने प्रेम की कहानी, और सागर को बोल, दम है तो इसे मिटा कर दिखा.”
“आँख उठाकर भी न देखूँ, जिससे मेरा दिल न मिले, जबरन सबसे हाथ मिलाना, मेरे बस की बात नहीं.”
“आग लगाना मेरी फितरत में नही है .. मेरी सादगी से लोग जलें तो मेरा क्या कसूर.”
“रहते हैं आस-पास ही, लेकिन साथ नहीं होते, कुछ लोग जलते हैं मुझसे, बस ख़ाक नहीं होते.”

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*